समाचार
मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को कथित यौन उत्पीड़न मामले में मिली क्लीन चिट

भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को कथित यौन उत्पीड़न के मामले में क्लीन चिट मिल गई है। जस्टिस एसए बोबडे की अगुवाई वाली तीन सदस्यीय पीठ ने सारे आरोपों को खारिज कर दिया है।

मामले की जाँच करने वाली आंतरिक समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि महिला कमर्चारी के आरोपों में किसी तरह की कोई ठोस वास्तविकता नहीं मिली है।

सर्वोच्च न्यायालय के महासचिव ने बयान में कहा कि रिपोर्ट वरिष्ठ न्यायाधीश के साथ मुख्य न्यायाधीश को सौंपी गई है। समिति द्वारा दायर की गई रिपोर्ट को सार्वजनिक भी नहीं किया जाएगा। समिति द्वारा जारी नोटिस में यह भी कहा गया कि रिपोर्ट को सार्वजनिक किए जाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट उत्तरदायी नहीं है।

इससे पहले आरोप लगाने वाली महिला ने जाँच समिति के सामने पेश होने से मना कर दिया था। उसने कहा था, “गंभीर चिंता और आपत्तियों की वजह से मैं आंतरिक समिति की कार्यवाहियों में भाग नहीं ले रही हूं।”

वहीं, पूर्व एससी न्यायाधीश न्यायमूर्ति एके पटनायक के नेतृत्व में एक जाँच भी मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की साजिश रचने को लेकर शुरू की गई है।