समाचार
सर्वोच्च न्यायालय में राहुल गांधी ने ‘चौकीदार चोर है’ बयान पर माँगी माफी

सर्वोच्च न्यायालय में अवमानना के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने माफी माँग ली है। मंगलवार को अदालत में राहुल के लिए पेश हुए अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, “उन्होंने गलती से अदालत की ओर से चौकीदार चोर है बयान दे दिया था।”

अदालत ने अवमानना मामले को लेकर राहुल गांधी की तरफ से दिए गए शपथपत्र पर असंतुष्टि जताई है। सर्वोच्च न्यायालय ने राफेल मामले को लेकर पुनर्विचार याचिका स्वीकार कर ली थी। इसके बाद राहुल ने अपने एक बयान में कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने भी मान लिया कि चौकीदार चोर है। इस पर भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने उनके खिलाफ अवमानना की याचिका दाखिल कर दी थी।

राहुल गांधी की तरफ से मामले में दिए गए शपथपत्र में उन्होंने खेद शब्द का इस्तेमाल किया था। इस पर मीनाक्षी लेखी के अधिवक्ता ने बिना शर्त माफी की मांग रखी। अदालत ने भी राहुल के खेद जताने के तरीके पर गुस्सा जाहिर किया है। कोर्ट ने पूछा, “क्या खेद जताने के लिए 22 पेज का हलफनामा दिया जाता है?”

मनु सिंघवी ने कहा, “सर्वोच्च न्यायालय की ओर से चौकीदार चोर है बयान देना गलत है। वह अब सोमवार से पहले इस संबंध में एक और शपथपत्र दायर करेंगे, जिसमें वह माफी शब्द का प्रयोग करेंगे।” मामले की अगली सुनवाई 6 मई तक के लिए स्थगित कर दी गई है।