समाचार
अनैतिक विज्ञान? विश्व का पहला शिशु जीन-संपादन करने वाला चीनी वैज्ञानिक निलंबित

चीनी वैज्ञानिक ही जियांकुई, जिन्होंने विश्व का पहला जीन-संपादित शिशु बनाने का दावा किया था, को सरकारी संस्थाओं और वैज्ञानिक समुदायों के उठते प्रश्नों के बीच कोई भी वैज्ञानिक गतिविधि करने से निलंबित कर दिया गया है, चाइना डेली  ने बताया।

“मीडिया के द्वारा रिपोर्ट किए गए केस में चीनी कानूनों और नियामकों का भयंकर उल्लंघन है और यह शैक्षिक नैतिकता और आचरण के सामाजिक स्तर से नीचे है। यह चौंकाने वाला और अस्वीकार्य है।”, विज्ञान एवं तकनीक के उपाध्यक्ष ज़ू ज़ैनपिंग ने चाइना सेंट्रल टेलीविज़न  से एक साक्षात्कार में कहा।

ज़ू ने कहा कि मंत्रालय ने प्राधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे इस प्रकार की सभी वैज्ञानिक गतिविधियों पर रोक लगाएँ और इस प्रयोग में जो भी लोग सम्मिलित थे, उनपर जाँच के बाद कार्यवाही की जाए।