समाचार
चीनी दूतावास ने लगाया भारत पर समझौते का उल्लंघन कर एलएसी अतिक्रमण का आरोप

पूर्वी लद्दाख में भारतीय सीमा को पार करने जुर्रत करने वाले चीन के अपने मंसूबों में सफल न होने के बाद वह उल्टा भारत पर समझौतों के उल्लंघन का आरोप लगाने लगा है। भारत में चीनी दूतावास ने अपने विदेश मंत्रालय को कहा, “भारतीय सैनिकों ने 31 अगस्त को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अतिक्रमण किया।”

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पैंगोंग त्सो झील के पास हुई सैन्य झड़प के सवाल पर चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रॉन्ग ने कहा, “31 अगस्त को भारतीय सेना ने वार्ता के दौरान बनी सहमतियों को दरकिनार कर पैंगोंग त्सो लेक के दक्षिणी छोर और रेकिन के पास के करीब एलएसी का अतिक्रमण किया।” बता दें कि रेकिन दर्रा चीन-भारत सीमा का पश्चिमी क्षेत्र है।

प्रवक्ता ने कहा, “भारतीय सेना ने अतिक्रमण के बाद उकसावे की कार्रवाई की। इससे सीमाई क्षेत्रों में फिर से तनाव की स्थिति पैदा हो गई। भारत के इस कदम से चीन की क्षेत्रीय संप्रभुता का उल्लंघन हुआ है। इससे दोनों देशों के बीच महत्वपूर्ण सहमतियों की अवेहलना हुई है।”

यही नहीं, पड़ोसी देश ने भारत पर सीमाई क्षेत्रों में शांति और स्थिरता का माहौल बिगाड़ने का भी आरोप लगा दिया है।