समाचार
आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम 27 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में

बुधवार (13 नवंबर) को दिल्ली न्यायालय ने आईएनएक्स मीडिया से जुड़े काले धन को वैध करने (मनी लॉन्ड्रिंग) के मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 27 नवंबर तक बढ़ा दी है।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए चिदंबरम को सीबीआई के विशेष जज अजय कुमार के सामने पेश किया गया। आपको बता दें कि बुधवार को ही चिदंबरम की न्यायिक हिरासत खत्म हो रही थी।

दरअसल चिदंबरम के वित्त मंत्री रहते हुए आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की तरफ से मंजूरी मिली थी।

सीबीआई को एफआईपीबी की ओर से मिली मंजूरी में हुई गड़बड़ियों में चिदंबरम की तथाकथित भागीदारी का अंदेशा है और जिसकी सीबीआई जाँच भी कर रही है। सीबीआई को अंदेशा है कि वित्त मंत्री रहते हुए चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया को यह मंजूरी दिलाने में मदद की।

इससे पहले 30 अक्टूबर को न्यायालय ने पी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 13 नवंबर तक बढ़ा दी थी। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को 31 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था और अभी भी चिदंबरम तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में हैं।

न्यायालय ने चिदंबरम के निवेदन पर अलग सेल, दवाइयाँ एवं पश्चिमी शैली के शौचालय के लिए अनुमति पहले ही दे दी थी।

(आईएएनएस से समाचार)