समाचार
चीन ने चली चाल, जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत के कुछ हिस्सों में दिखाया

बीजिंग में चल रहे बेल्ट एंड रोड एनिशिएटिव (बीआरआई) के शिखर सम्मेलन के दूसरे संस्करण में चीन ने एक मानचित्र में जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत के कुछ हिस्सों के रूप में दिखाया है।

इकनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस मानचित्र में भारत को भी बीआरआई का हिस्सा दिखाया गया है। इससे पहले भारत इस शिखर सम्मेलन का बहिष्कार कर चुका है।

चीन का यह कदम हैरान कर देने वाला है क्योंकि हाल ही में उसने ऐसे हजारों मानचित्र नष्ट किए थे, जिनमें अरुणाचल प्रदेश को भारत के राज्य के तौर पर दिखाया जाता रहा है।

चीन-भारत संबंधों पर विशेषज्ञों को संदेह है कि यह भारत को बीआरआई के विरोध में संतुष्ट करने की एक चाल है। इसकी वजह है कि यह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से निकलता है, जो भारत की संप्रभुता का गंभीर उल्लंघन है।

पिछले साल कराची में चीनी वाणिज्य दूतावास पर आतंकवादी हमलों की रिपोर्टिंग करते समय चीन के राज्य के मीडिया (सीजीटीएन टेलीविजन) ने पाकिस्तान के अधिकार वाले कश्मीर को उसके मानचित्र से बाहर कर दिया था।

चीन लंबे समय से अरुणाचल प्रदेश पर तिब्बत के दक्षिणी हिस्से के रूप में दावा करता रहा है। इसके लिए वह अपने मानचित्रों का सहारा लेता रहा है। चीनी मानचित्र में पाक अधिकृत कश्मीर को भी पाकिस्तान के हिस्से के रूप में दिखाया गया है।