समाचार
खतरे की घंटी? प्रवर्तन निदेशालय ने पी चिदंबरम को भेजा बुलावा, होगी पूछताछ

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया के मुद्दे पर बुधवार (19 दिसंबर) को उसके समक्ष उपस्थित होने का समन (बुलावा) जारी किया है, हिंदुस्तान टाइम्स  की रिपोर्ट में बताया गया।

चिदंबरम तथा उनके पुत्र कार्ति चिदंबरम पर एयरसेल-मैक्सिस सौदे तथा आइएनेक्स मीडिया से जुड़े आरोप हैंI दिल्ली की एक अदालत ने उनकी गिरफ्तारी पर लगी रोक 11 जनवरी तक बढ़ा दी थी I केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) तथा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अदालत में कहा था कि उन्हें कुछ नई चीजें मिली हैं, जिसका मिलान किया जाना शेष है।

कल अदालत द्वारा गिरफ्तारी पर रोक, उनके लिए राहत की खबर थी लेकिन अब पुन: मुश्किलें बढ़ गई हैं।

विशेष न्यायाधीश ओपी सैनी ने 11 जनवरी तक इनकी गिरफ्तारी रोकने के आदेश देते हुए सीबीआई को अन्य आरोपियों पर मुकदमा चलाने के लिए भी कह दिया था। बता दें कि इसमें कुल 18 लोगों को आरोपी बनाया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार, एयरसेल-मैक्सिस सौदा 3,500 करोड़ की धनराशि तथा आइएनएक्स मीडिया का मुद्दा 305 करोड़ की राशि का है। ईडी ने मुद्दे से जुड़ी कार्ति चिदंबरम की 54 करोड़ की, भारत, यूके तथा स्पेन की  सम्पत्तियाँ अक्टूबर में  जब्त कर लीं थी I

उल्लेखनीय है कि 26 नवंबर को सीबीआई ने अदालत को कहा था कि केंद्र ने चिदंबरम के खिलाफ मुकदमा चलाने की इजाज़त दे दी है। यह मुद्दा विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) द्वारा एयरसेल-मैक्सिस सौदे में दी गई अनुमति में अनियमितताओं से जुड़ा हुआ है। इसकी जाँच सीबीआई द्वारा की जा रही है। चिदंबरम तथा उनके पुत्र इस सौदे की जाँच के घेरे में आए थे।

गौरतलब है कि अनियमितताओं से जुड़ा यह मामला 2007 का है जब चिदंबरम यूपीए सरकार के कार्यकाल में वित्त मंत्री थे I