समाचार
ओडिशा की चंद्राणी मुर्मू देश की सबसे युवा सांसद, चुनाव से पहले ढूँढ रही थी नौकरी

ओडिशा की चंद्राणी मुर्मू ने अब तक की सबसे कम उम्र की महिला सांसद बनने का गौरव हासिल किया है। वह बीजू जनता दल (बीजेडी) से चुनाव लड़ी थीं।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, मुर्मू की उम्र अभी केवल 25 साल 11 महीने है। उन्होंने ओडिशा की केन्झार लोकसभा सीट से जीत दर्ज की उन्होंने 2017 में भुवनेश्वर से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की थी। डिग्री मिलने के बाद वह नौकरी की तलाश में थीं, तभी उन्हें बीजद की ओर से चुनाव लड़ने का पेशकश मिली।

इस आदिवासी महिला ने चुनाव में भाजपा उम्मीदवार आनंद नायक को 66,200 मतों के अंतर से पराजित किया था। अनंत दो बार क्योंझार से सांसद रह चुके हैं। सांसद चंद्राणी मुर्मी के परिवार से कोई भी राजनीति में नहीं है। उनके माता-पिता सरकारी नौकरी करते हैं।

17वीं लोकसभा चुनाव में पूरे देश से सिर्फ 14 प्रतिशत के करीब महिला उम्मीदवार जीतकर संसद पहुँच रही हैं। ओडिशा में 33 प्रतिशत महिलाओं ने जीत हासिल की है। वहाँ के इतिहास में पहली बार है, जब इतनी ज्यादा संख्या में महिलाएँ एकसाथ सांसदी का चुनाव जीती हैं।

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने चुनाव से पहले कहा था, “इस बार चुनाव में हमारी पार्टी 33 प्रतिशत सीटों पर महिला उम्मीदवारों को उतारेगी।” उन्होंने अपने वादा निभाते हुए 21 में से सात सीटों में महिला प्रत्याशियों को उतारा। इनमें से पाँच महिला उम्मीदवारों ने जीत हासिल की, जबकि उसके कुल 12 प्रत्याशी लोकसभा पहुँच रहे हैं।