समाचार
लावारिस शवों का दाह संस्कार करने वाले फैजाबाद के मोहम्मद शरीफ को पद्मश्री सम्मान

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने रविवार ( 26 जनवरी) को 25,000 से अधिक लावारिस शवों का अंतिम संस्कार करने वाले उत्तर प्रदेश में फैजाबाद के मोहम्मद शरीफ को प्रतिष्ठित पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, मोहम्मद शरीफ ने 27 साल पहले अपने बेटे को खो दिया था। उन्हें एक महीने बाद अपने बेटे की मौत की जानकारी हुई थी। उसके बाद से ही उन्होंने लावारिस शवों के दाह संस्कार का बीड़ा उठा लिया था।

शरीफ के साथ कुल 141 विभूतियों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इनमें से सात को पद्म विभूषण सम्मान, 16 को पद्म भूषण सम्मान और 118 को पद्मश्री सम्मान मिला है।

हालाँकि, ध्यान देने वाली बात यह है कि आमतौर पर यह पुरस्कार संबंधित वर्ष के मार्च या अप्रैल माह में दिए जाते हैं लेकिन इस बार जनवरी में ही यह आयोजन कर दिया गया। इस बीच, उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने पद्म पुरस्कारों और गुमनाम नायकों को सम्मानित करने के सरकार के कदम की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह एक तरह से भारत की खोज है।