समाचार
एसईज़ेड विकसित करने हेतु केंद्र सरकार त्रिपुरा में करेगी 1550 करोड़ रुपये का निवेश
आईएएनएस - 19th December 2019

गुरुवार (19 दिसंबर) को एक अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय ने 1,550 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ त्रिपुरा में पहली बार विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईज़ेड) स्थापित करने की अधिसूचना जारी की है।

त्रिपुरा के उद्योग विभाग के अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय ने इस सप्ताह की शुरुआत में 1,550 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ दक्षिण त्रिपुरा के सीमावर्ती शहर सबरूम के पास स्थित पश्चिम जलेफा में पहली बार एक एसईज़ेड स्थापित करने की सूचना दी है।

अधिकारी ने कहा कि एसईज़ेड को विकसित करने की जिम्मेदारी त्रिपुरा के स्वामित्व वाले औद्योगिक विकास निगम (टीएसआईडीसी) के पास होगी जबकि इस प्रस्तावित एसईज़ेड से अनुमानित 12,000 कौशल रोजगार उत्पन्न होंगे।

अधिकारी के अनुसार, एसईज़ेड में रबड़ आधारित उद्योग, कपड़ा और परिधान उद्योग, बाँस और कृषि-खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित किए जाएँगे। बांग्लादेश के चटगाँव अंतर्राष्ट्रीय बंरदरगाह से निकटता के कारण इसमें निजी निवेश को आकर्षित करने हेतु नए रास्ते खुलने और दक्षिणी त्रिपुरा में फेनी नदी पर पुल निर्माण होने की उम्मीद है।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने एक आधिकारिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, “मार्च तक फेनी नदी पर निर्माणाधीन महत्वपूर्ण पुल के पूरा होने के बाद, प्रस्तावित एसईज़ेड और चटगांव अंतरराष्ट्रीय समुद्री बंदरगाह के बीच की सतह का संचार बहुत आसान हो जाएगा। दोनों तरफ उच्च गुणवत्ता वाली सड़कों का निर्माण भी जारी है। हमें प्रधानमंत्री शेख हसीना से पूरा समर्थन मिलेगा।”

1,150 करोड़ रुपये की लागत से पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) ने पहले से ही सबरूम और बेलोनिया के दो सीमावर्ती उप-कस्बों तक रेलवे लाइनों का विस्तार कर दिया है।

इसके अलावा, सरकार के स्वामित्व वाली इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड (इरकॉन) भी अघौरा में बांग्लादेशी रेलवे नेटवर्क के साथ अगरतला स्टेशन को जोड़ने के लिए 972 करोड़ रुपये की लागत से 12.23 किलोमीटर रेलवे ट्रैक बिछा रही है।

(वायर न्यूज़ फ़ीड की सहायता से प्रकाशित)