समाचार
बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव आलापन बन्द्योपाध्याय पर बड़ी जुर्माना कार्रवाई करेगा केंद्र

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सलाहकार आलापन बन्द्योपाध्याय, जो पूर्व में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव थे, वे एक नई परेशानी में आ गए हैं। दरअसल, उनके कथित दुर्व्यवहार के लिए केंद्र सरकार ने सोमवार को उनके विरुद्ध कार्रवाई शुरू कर दी है।

केंद्र सरकार ने कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की ओर से भेजे गए ज्ञापन में उनके विरुद्ध बड़ी जुर्माना कार्रवाई करने का प्रस्ताव दिया है। इस पर 30 दिनों के अंदर उनकी प्रतिक्रिया मांगी गई है। प्रतिक्रिया देने में विफल होने पर जाँच प्राधिकारी उनके विरुद्ध जाँच कर सकती है।

ज्ञापन में कहा गया, “आलापन बन्द्योपाध्याय को सूचित किया जाता है कि केंद्र सरकार अखिल भारतीय सेवाएँ (अनुशासन व अपील) नियम, 1969 की धारा आठ के तहत और अखिल भारतीय सेवाएँ (मृत्यु सह सेवानिवृत्ति लाभ) नियम, 1958 की धारा छह के तहत उनके विरुद्ध बड़ी दंडात्मक कार्रवाई करने का प्रस्ताव रखती है।

अधिकारियों ने कहा कि पूर्व मुख्य सचिव को बड़ी जुर्माना कार्रवाई की चेतावनी दी गई है, जो केंद्र सरकार को पेंशन या ग्रेच्युटी या दोनों को पूर्ण या आंशिक रूप से रोकने की अनुमति देती है।

नियम 8 उप-धारा 2 कहती है, “जब भी अनुशासनिक प्राधिकारी की यह राय हो कि सेवा के किसी सदस्य के विरुद्ध कदाचार या दुर्व्यवहार के किसी भी आरोप की सच्चाई की जाँच करने के लिए आधार है तो वह इस नियम के तहत या लोक सेवक (पूछताछ) अधिनियम 1850 के प्रावधानों के तहत जैसा भी मामला हो एक प्राधिकरण नियुक्त कर सकता है।”