समाचार
वॉट्सैप सीईओ को केंद्र सरकार ने नई नीति पर लिखा पत्र, “वापस लेने पर करें विचार”

केंद्र सरकार ने नई गोपनीयता नीति को स्वीकार न करते हुए वॉट्सैप को इसे वापस लेने को कहा है। सरकार ने कंपनी के सीईओ विल कैथार्ट को पत्र लिखकर कहा, “सेवा, गोपनीयता शर्तों में कोई भी एकतरफा बदलाव उचित और स्वीकार्य नहीं है। यह प्रस्तावित परिवर्तन गंभीर चिंताएँ उत्पन्न करता है।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने पत्र में कहा, “प्रस्तावित परिवर्तनों को वापस लेने और सूचना गोपनीयता, चयन की स्वतंत्रता और डाटा सुरक्षा को लेकर अपने नज़रिए पर फिर से विचार करना चाहिए। भारतीयों का उचित सम्मान किया जाना चाहिए।”

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, “अंतरराष्ट्रीय कंपनियों से संपर्क के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा को सबसे अधिक महत्व दिया जाएगा। डाटा सुरक्षा और गोपनीयता के मुद्दे पर भारत सहित दुनियाभर में वॉट्सैप की बहुत आलोचना हुई है।”

उन्होंने आगे कहा, ”इस मुद्दे पर विभाग काम कर रहा है। एक बात स्पष्ट है कि कोई भी डिजिटल मंच भारत में व्यापार करने के लिए स्वतंत्र है लेकिन यहाँ काम कर रहे भारतीयों के अधिकारों का अतिक्रमण किए बिना उन्हें काम करना होगा। व्यक्तिगत संचार की शुचिता को बनाए रखने की जरूरत है।”

इससे पूर्व, दिल्ली उच्च न्यायालय ने वॉट्सैप की नई गोपनीयता नीति को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा था कि इस पर विस्तृत सुनवाई की जरूरत है। यह एक निजी ऐप है। अगर आपको गोपनियता के बारे में ज्यादा चिंता है तो इसे छोड़ दें और दूसरे ऐप पर चले जाएँ। यह स्वैच्छिक चीज़ है। मामले की अगली सुनवाई 25 जनवरी को होगी।