समाचार
वैक्सीन को लेकर एसआईआई के ₹80,000 करोड़ के आँकड़े से सहमत नहीं केंद्र सरकार

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि सरकार के पास कोविड-19 वैक्सीन खरीदने के लिए पर्याप्त फंड है। मंत्रालय सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के सीईओ अदार पूनावाला के सवाल, क्या कोविड-19 वैक्सीन खरीदने और उसके वितरण के लिए केंद्र के पास 80,000 करोड़ रुपये हैं?, से बिल्कुल सहमत नज़र नहीं आया है।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार (29 सितंबर) को पूनावाला के ट्वीट पर संवाददाताओं से यह बात कही। उन्होंने कहा, “जिन्होंने यह ट्वीट किया, उन्होंने अगले दिन इस पर अपनी सफाई दी। हम 80,000 करोड़ रुपये के आँकड़े से सहमत नहीं हैं।”

स्वास्थ्य सचिव ने कहा, “सरकार ने वैक्सीन प्रशासन पर एक राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह बनाया है। उन्होंने अब तक पाँच बैठकें कीं। इनमें वैक्सीन वितरण की प्रक्रिया और इसके लिए ज़रूरी राशि के संदर्भ में वार्ता हुई। हमने आवश्यक राशि के बारे में विस्तार से चर्चा की और यह राशि हमारे पास है।”

पूनावाला ने अपने ट्वीट के अगले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक वीडियो ट्वीट करते हुए वैक्सीन की दिशा में सरकार के प्रयासों की सराहना की थी। सरकार का कहना है कि अगले वर्ष की शुरुआत तक कोरोना की वैक्सीन तैयार हो सकती है।

बता दें कि एसआईआई ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के जेनर इंस्टिट्यूट द्वारा विकसित संभावित टीके का ब्रिटेन-स्वीडन की फार्मा कंपनी एस्ट्रजेनेका के साथ सहयोग में विनिर्माण के लिए करार किया है। इससे पूर्व, एसआईआई ने घोषणा की थी कि वह भारत सहित निम्न और मध्यम आय वर्ग के देशों को टीका तीन डॉलर में उपलब्ध कराएगी।