समाचार
केंद्र ने नवोदय विद्यालयों को अस्थाई अस्पताल बनाने की दी स्वीकृति, हुआ निरीक्षण

केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए नवोदय विद्यालयों में इसके मरीजों के इलाज की स्वीकृति दे दी है। सोमवार शाम तक 18 जिलों के जिलाधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छात्रावासों में जाकर व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने 645 नवोदय विद्यालयों के हॉस्टल में अस्थाई अस्पताल बनाने की स्वीकृति दी है।

उन्होंने बताया, “मौजूदा स्थितियों के आँकलन के बाद नवोदय विद्यालय प्रशासन को निर्देश दिया है कि वे मौजूदा वक्त में खाली छात्रावास जिला प्रशासन को उपलब्ध करवा दें। कोरोनावायरस को नियंत्रित करने के लिए उनका मंत्रालय भी देश के साथ मजबूती से खड़ा है।”

बता दें कि आवासीय स्कूलों के छात्रावास में मेस के अलावा अन्य जरूरी सुविधाएँ उपलब्ध रहती हैं। इनको अस्थाई अस्पताल बनाया जाता है तो स्वास्थ्य विभाग को काफी मदद मिल सकेगी। अधिकतर नवोदय विद्यालय शहर से दूर हैं। ऐसे में इन अस्थाई अस्पतालों में आने वाले कोरोना पीड़ित लोगों से दूर रहेंगे।