समाचार
10वीं के गणित में कमज़ोर छात्रों के लिए आसान प्रश्न-पत्र लेकर आएगा सीबीएसई

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध प्राप्त कोलकाता के कई विद्यालय बोर्ड परीक्षा में गणित का आसान संस्करण लेने के लिए 10वीं कक्षा के छात्रों के माता-पिता को परामर्श देने और समझाने की योजना पर काम कर रहे हैं।

द टाइम्स ऑफ इंडिया  की रिपोर्ट के अनुसार, 2019-20 शैक्षणिक वर्ष से सीबीएसई ने गणित के पाठ्यक्रम को संशोधित किया है और उन लोगों के लिए एक अलग आसान पेपर तैयार किया है, जो इस विषय में खराब प्रदर्शन कर रहे हैं। संशोधित प्रश्न पत्र को आधिकारिक तौर पर मानक-गणित कहा गया है।

इसके तहत वे उम्मीदवार जो गणित विषय में अपेक्षाकृत कमज़ोर हैं, वे विशेष रूप से निर्धारित इस आसान पेपर में बैठ सकेंगे और मानक-गणित प्रश्न पत्र का जवाब देंगे। हालाँकि, नियम के अनुसार जो छात्र आसान संस्करण का चयन करता है, वह उच्च माध्यमिक (+2) में गणित लेने के लिए पात्र नहीं होगा।

बिड़ला भारती स्कूल की प्रधानाचार्या अपाला दत्ता ने बताया कि यह एक शानदार पहल है, क्योंकि बोर्ड परीक्षाओं से पहले छात्रों और अभिभावकों से परामर्श की जाएगी और उनके शैक्षणिक झुकाव का पता चलेगा। इससे उन्हें अपना स्कोर सुधारने में भी मदद मिलेगी। यह वैज्ञानिक दृष्टि से सही प्रणाली है।

वहीं शहर के एक प्रतिष्ठित विद्यालय के प्रधानाचार्य ने बताया, “हमने उन छात्रों के साथ ओपन-हाउस सत्र और अभिभावक-शिक्षक बैठकें आयोजित की है, जिन्होंने जून में पहली बार की परीक्षाओं में खराब प्रदर्शन किया। कई अभिभावक तुरंत अपने बच्चों को आसान पेपर के लिए बैठने की अनुमति देने के लिए सहमत हो गए, जबकि अन्य लोग मध्यावधि परिणाम आने तक इंतजार करना चाहते थे।”