समाचार
गुरुग्राम भूमि अधिग्रहण व मुक्ति मामला- हुड्डा के रोहतक निवास पर सीबीआई छापा

शुक्रवार (25 जनवरी) सुबह हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के रोहतक स्थित निवास पर केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने छापा मारा। गुरुग्राम में भूमि घोटाले के संबंध में दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा स्थित करीब 30 जगहों पर छापे मारे गए।

1 नवंबर 2017 को सर्वोच्च न्यायालय ने 1,047 एकड़ ज़मीन की अर्जन प्रक्रिया और उसके बाद 95 प्रतिशत भूमि को मुक्त किए जाने के संबंध में सीबीआई को जाँच के निर्देश दिए थे, हिंदुस्तान टाइम्स  ने बताया। यह मामला पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा गुरुग्राम में नागली उमरपुर, टिगरा, उल्ल्हावास, कादरपुर, मैदावास, बादशाहपुर, बेहरामपुर और घाटा क्षेत्रों में आवासीय सेक्टर 58 से 63 ऐर आवासीय व व्यापारिक सेक्टर 65 से 67 विकसित करने के लिए 1,047 एकड़ भूमि अधिग्रहण के संबंध में जारी किए गए नोटिस का है।

हालाँकि दिसंबर 2011 में मात्र 87 एकड़ भूमि को ही स्वीकृति दी गई थी और नोटिस में उल्लेखित 95 प्रतिशत भूमि को मुक्त कर दिया गया था। जिसके बाद सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई को अधिग्रहण व भूमि मुक्ति के जाँच के आदेश दिए थे।