समाचार
सीबीआई ने सेना अधिकारी भर्ती घोटाले में छह कर्नल सहित 23 को गिरफ्तार किया

भारतीय सेना में अधिकारियों की भर्ती में कथित भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) को एक सफलता हासिल हुई। उसने मामले में छह लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के अधिकारियों को गिरफ्तार किया, जो सेवा चयन बोर्ड (एसएसबी) केंद्रों के माध्यम से इस गोरखधंधे को चलाते थे।

आर्मी एयर डिफेंस कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट कर्नल भगवान को इस पूरे फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड माना जा रहा है। वह सीबीआई की गिरफ्त में आने वाले छह अधिकारियों में से एक है। कुल मिलाकर एजेंसी ने छह निजी व्यक्तियों के साथ विभिन्न रैंकों के 17 सैन्य अधिकारियों के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं।

मामला पूरी तरह से अधिकारियों की भर्ती में घूसखोरी, अनियमितताओं और एसएसबी के माध्यम से अन्य रैंकों से संबंधित है। सोमवार को विशाखापत्तनम, दिल्ली, गोरखपुर, लखनऊ, जयपुर, जोरहाट सहित कई स्थानों में सेना के प्रतिष्ठानों के अलावा देशभर के 30 स्थानों पर छापेमारी की थी।

ब्रिगेडियर (सतर्कता) वीके पुरोहित ने सीबीआई से शिकायत में आरोप लगाया था कि 28 फरवरी को एक जानकारी मिली थी, जिसमें नई दिल्ली स्थित बेस-हॉस्पिटल में मेडिकल परीक्षा में फेल हुए उम्मीदवारों को रिश्वत लेकर पास किया जाता है।

मिंट की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिगेडियर पुरोहित ने दावा किया कि लेफ्टिनेंट कर्नल भगवान और नायब सूबेदार कुलदीप सिंह ने एसएसबी केंद्रों पर भावी अधिकारी उम्मीदवारों से उनकी संतुष्टि के बारे में पूछा था।

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने रिश्वत लेने और इस पूरे नेटवर्क को चलाने वाले अधिकारियों के रिश्तेदारों के साथ सेना के 23 कर्मियों और नागरिकों को बुक किया है। एजेंसी की जाँच से मिलने वाले और विवरणों का अभी तक इंतजार किया जा रहा है।