समाचार
सीबीआई ने पूर्व कांग्रेस मंत्री रोशन बेग को आईएमए पोंजी घाटाले में किया गिरफ्तार
आईएएनएस - 23rd November 2020

कर्नाटक के पूर्व कांग्रेस मंत्री रोशन बेग को एक दिन की लंबी पूछताछ के बाद सीबीआई ने करोड़ों रुपये के आईएमए पोंजी घोटाले में कथित संलिप्तता पाए जाने के बाद गिरफ्तार कर लिया।

सीबीआई प्रवक्ता आरके गौड़ ने आईएएनएस को बताया, “बेग को पोंजी चिटफंड घोटाले की जाँच में पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। उन्हें एक अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहाँ से उन्हें आगे की पूछताछ के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।”

सीबीआई के एक सूत्र ने कहा, “बेग को कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया। बाद में 2018-19 में राज्य में हुए बड़े घोटाले में उसके खिलाफ जुटाए गए सबूतों के आधार पर हिरासत में ले लिया गया था।” सीबीआई ने पहले दिन बेग के घर में तलाशी और जब्ती अभियान चलाया।

आई-मॉनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) ज्वैलरी किंगपिन मोहम्मद मंसूर खान ने आरोप लगाया था कि उन्होंने अप्रैल-मई 2018 में राज्य विधानसभा चुनावों से पहले बेग को 400 करोड़ रुपये दिए थे। 4,000 करोड़ का घोटाला जून 2019 में सामने आया था।

तत्कालीन बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त अजय कुमार सिंह को भेजे एक ऑडियो क्लिप में खान ने आरोप लगाया था कि बेग ने अधिक पैसे देने के लिए परेशान किया, जिस वजह से वह दुबई भाग गया था। पूर्व जनता दल-सेक्युलर-कांग्रेस सरकार ने घोटाले की जाँच के लिए एसआईटी गठित की थी। भाजपा सरकार ने जुलाई 2019 में सत्ता में आने के बाद अगस्त में जाँच सीबीआई को सौंप दी।

खान को 20 जुलाई 2019 को नई दिल्ली से दुबई के रास्ते बेंगलुरु ले जाया गया और कंपनी के सात निदेशकों सहित लगभग 30 आरोपियों के साथ केंद्रीय जेल में रखा गया। ईडी ने खान को हवाला के माध्यम से विदेशी बैंकों में धन हस्तांतरित करने के लिए पीएमएलए के तहत गिरफ्तार किया था।