समाचार
ठाकरे सरकार पर्यावरणविदों पर आरे में हुए प्रदर्शन के दौरान दर्ज मामले वापिस लेगी
आखिर शिव सेना चाहती क्या है?

महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार (1 दिसंबर) को कहा कि सरकार मुंबई के आरे दूध कॉलोनी में मेट्रो रेल में कार शेड के निर्माण हेतु पेड़ों को काटने के खिलाफ आंदोलन कर रहे पर्यावरणविदों के खिलाफ दायर सभी मामलों को वापस लेगी।

एशियन न्यूज इंटरनेशनल (एएनआई) की खबर के अनुसार महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरणविदों पर दर्ज मामले वापिस लिए जाएँगे। “अब किसी पर किसी प्रकार का कोई मुकदमा नहीं चलेगा।”, ठाकरे ने कहा।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री ठाकरे ने बताया था कि ठाकरे सरकार ने मुंबई की मेट्रो रेल परियोजना के लिए कार शेड के निर्माण की दिशा में आगे होने वाले सभी काम रोकने का आदेश जारी किया1 है।

महाराष्ट्र चुनावों से ठीक पहले 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र के तत्कालीन सीएम देवेंद्र फडणवीस की देखरेख में मुंबई के आरे में पेड़ों के काटे जाने के बाद मुंबई में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे। मुंबई शहर में चुनावों से कुछ दिन पहले हुए विरोध-प्रदर्शनों में शिवसेना तत्कालीन फडणवीस सरकार के खिलाफ खुलकर सामने आई थी।