समाचार
आईएसआई समर्थित एसएफजे के प्रतिबंध पर अमरिंदर ने की मोदी सरकार की सराहना

पंजाब के मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार (10 जुलाई) को खालिस्तान समर्थक समूह ‘सिख्स फॉर जस्टिस’ (एसएफजे) पर केंद्र सरकार द्वारा अवैध संगठन करार कर प्रतिबंध लगाए जाने के कदम की प्रशंसा की। उन्होंने इसे पाकिस्तान के इंटर सर्विसेज़ इंटेलिजेंस (आईएसआई) द्वारा समर्थित स्वपक्षत्यागी और भारत-विरोधी संगठनों पर लगाम का पहला प्रयास बताया।

एसएफजे को ऐसा संगठन कहते हुए जिसने पंजाब में आतंक की हवा चलाई हो, सिंह ने केंद्र के इस बहुप्रतीक्षित निर्णय की सराहना की। “इस प्रयास से केंद्र ने अपनी अति आवश्यक इच्छाशक्ति को दर्शाया है। इस संस्था को पाकिस्तान का आईएसआई 2014 से चलाए गए अभियान ‘सिख रेफरेंडम 2020’ के लिए समर्थन दे रहा था।”, पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा।

संगठन के विरुद्ध लड़ाई की बात करते हुए उन्होंने कहा, “एसएफजे की गतिविधियाँ अवैध होने से अधिक थीं और हमारे देश के अस्तित्व के लिए खतरा बन रही थीं। हाल के कुछ वर्षों में एसएफजे गरीब और भोले युवकों को कट्टर बनाकर वित्तीय रूप से पोषित कर रहा था ताकि वे आगजनी और हिंसा कर सकें।”, एएनआई  ने रिपोर्ट किया।