समाचार
कनाडा पुलिस ने मादक पदार्थों की तस्करी के मामले में पंजाब मूल के 23 लोगों को पकड़ा

कनाडा की कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने दो दर्जन से अधिक व्यक्तियों पर मादक पदार्थों की तस्करी जैसी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाते हुए उन्हें गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में से अधिकतर भारतीय-कनाडाई नागरिक हैं, जो पंजाब के रहने वाले हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, एक वर्ष की लंबी जाँच और छानबीन के बाद ग्रेटर टोरंटो क्षेत्र में आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। 8 अप्रैल से अब तक आठ लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनमें 23 पंजाबी मूल के हैं।

जाँच करने वाली एजेंसियों में कनाडा की यॉर्क क्षेत्रीय पुलिस, रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी), पील क्षेत्रीय पुलिस और यूएस ड्रग प्रवर्तन शामिल थीं।

प्रोजेक्ट चीता के नाम से पिछले वर्ष मई में जाँच शुरू हुई और कनाडा में बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवाओं के आयात के बारे में पता चला, जिसमें एक मजबूत नेटवर्क शामिल था। वाईआरपी ने कहा, “ड्रग्स तस्करों द्वारा चलाए जा रही एक जटिल प्रणाली के माध्यम से पूरे देश में मादक पदार्थ पहुँचाए गए थे।”

इन मादक पदार्थों की तस्करी का जाल अमेरिका और भारत तक फैला हुआ है। ड्रग्स को कनाडा से कैलिफोर्निया और भारत में लाया जाता है।