समाचार
आयकर दायर करने की आधुनिक प्रणाली से एक दिन में होगा प्रसंस्करण

ऑनलाइन आयकर रिटर्न भरने की सेवा के आधुनिकीकरण के लिए केंद्रीय कैबिनेट मंडल ने 4,241.97 करोड़ रुपए की स्वीकृति दे दी है, द इंडियन एक्सप्रेस  ने बताया। इस नई प्रणाली से मात्र एक दिन में रिटर्न प्रोसेस हो जाएगी जिससे प्रतिदाय (रिफंड) भी जल्द मिल पाएगा। इस परियोजना को इंफोसिस कार्यान्वित करेगा।

“प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कैबिनेट ने एकीकृत ई-फाइलिंग और केंद्रिकृत प्रसंस्ककरण केंद्र 2.0 परियोजना के लिए 4,241.97 करोड़ रुपए की मंज़ूरी दी है।”, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया। आयकर रिटर्न की प्रसंस्करण अवधि 63 दिनों की थी परंतु इस परियोजना के बाद मात्र एक दिन में यह कार्य पूरा होगा।

अपेक्षा है कि यह परियोजना 18 महीनों में पूरी होगी व परीक्षण के बाद इसे लागू कर दिया जाएगा। मंत्री ने बताया कि यह परियोजना कर अनुकूल होगी। गोयल ने यह भी बताया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में 1.83 लाख करोड़ के कर रिफंड दिए जा चुके हैं।