समाचार
बिहार में प्रशांत किशोर के पुश्तैनी मकान पर बक्सर प्रशासन ने चलाया बुलडोज़र

बिहार के बक्सर प्रशासन ने चुनावी रणनीतिकार और जदयू के पूर्व नेता प्रशांत किशोर के पुश्तैनी आवास की चहारदीवारी और ब्रह्म स्थान पर बुलडोज़र चलाकर उसे तोड़ दिया। प्रशासन का कहना है कि राष्ट्रीय राजमार्ग 84 के चार लेन का किए जाने पर भूमि को अधिग्रहित कर लिया गया था, जिसके तहत कार्रवाई की गई है। हालाँकि, प्रशांत ने अभी तक इसका मुआवज़ा नहीं लिया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, प्रशांत किशोर के पुश्तैनी घर पर शुक्रवार (12 फरवरी) को सरकारी अमला पहुँचा। उसने 10 से 15 मिनट में पूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इस दौरान किसी ने प्रशासन की कार्रवाई का विरोध भी नहीं किया।

अभी तक मामले को लेकर प्रशांत किशोर की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। अब वह इस मकान में नहीं रहते हैं। उनके परिवार की ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। यह मकान उनके पिता श्रीकांत पांडे ने बनवाया था।

बता दें कि प्रशांत किशोए पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी हुआ करते थे। उन्हें जदयू का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तक बना दिया गया था लेकिन बाद में एनआरसी के मुद्दे पर मतभेद के चलते वह पार्टी से अलग हो गए थे।