समाचार
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का 100 किलोमीटर लंबा भाग एक वर्ष के रिकॉर्ड समय में बना

296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का 100 किलोमीटर लंबा भाग एक वर्ष के रिकॉर्ड समय में पूरा हो गया है, राज्य में एक्सप्रेसवे के नियोजन व निर्माण के लिए ज़िम्मेदार एजेंसी उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीईडा) ने बताया।

इस एक्सप्रेसवे का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले वर्ष राज्य के चित्रकूट जिले में 29 फरवरी को किया था। यूपीईडा ने बताया कि 18 किलोमीटर लंबे पैकेज 1, 13 किलोमीटर लंबे पैकेज 2, 10 किलोमीटर लंबे पैकेज 3, 24 किलोमीटर लंबे पैकेज 4, 22 किलोमीटर लंबे पैकेज 5 और 13 किलोमीटर लंबे पैकेज 6 का काम पूरा हो गया है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के पास उत्तर प्रदेश में किसी राजमार्ग परियोजना के लिए होने वाले भूमि अधिग्रहण में सबसे तेज़ भूमि अधिग्रहण का रिकॉर्ड भी है। चित्रकूट जिले में भरतकूप से शुरू होकर यह एक्सप्रेसवे बांदा, महोबा, हमीरपुर, जलाऊँ, औरैया और इटावा से होकर गुज़रता है।

इटावा जिले के कुदरैल गाँव में यह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से जुड़ जाएगा जो यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम सेसूखा-ग्रस्त क्षेत्र यानी दक्षिणी उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से जोड़ देगा। अगले वर्ष जनवरी तक इसके पूरा हो जाने की संभावना है।