समाचार
क्या आपकी वार्षिक आय 5 लाख रुपये से कम है? मध्यम वर्गीय को मोदी सरकार का उपहार

प्रस्तुत बजट में अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने ऐतिहासिक घोषणा करते हुए 5 लाख रुपये से कम आय वाले नागरिकों को पूर्णतः कर से छूट दे दी है। यानि जिनकी वार्षिक आय 5 लाख रुपये से कम है, उन्हें किसी प्रकार का आयकर नहीं देना होगा।

इस प्रकार इससे लगभग 3 करोड़ मध्यमवर्गीय करदाताओं को लाभ मिलेगा। इसके फलस्वरूप सरकार के कर कोष में 22,000 करोड़ रुपये की कमी आएगी। सत्र 2015-15 में 99 लाख मागरिकों ने दर्शाया था कि उनकी वार्षिक आय 2.5 लाख रुपये से कम है।

मध्यम वर्ग को एक और राहत देते हुए उन्होंने कहा कि बैंक और डाकघरों में जमा पर 40,000 रुपये से अधिक की राशि पर ही टीडीएस कटेगा, जबकि पहले यह राशि सीमा 10,000 रुपये की थी, यानि सीमा में 300 प्रतिशत की वृद्धि।