समाचार
चुनाव आयोग के प्रतिबंध से भड़की मायावती ने कहा “हम केंद्र में आकर बदला लेंगे”

चुनाव आयोग ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती के 48 घंटे तक चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगा दिया। इस प्रतिबंध को उन्होंने असंवैधानिक और जनविरोधी बताया है।

हिंदुस्तान टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, मायावती ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, “मुझे यकीन है कि लोग चुनाव आयोग के आदेश के पीछे छिपे हथकंडे को समझेंगे। यह आदेश असंवैधानिक और जनविरोधी है। मेरी अपील है कि ज्यादा से ज्यादा लोग मेरी आवाज बनें।” चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मायावती के खिलाफ उनके विवादास्पद भाषणों को लेकर क्रमश: 72 और 48 घंटे प्रचार करने से रोक दिया था।

बसपा प्रमुख ने आचार संहिता के उल्लंघन से इनकार करते हुए कहा, “यह आचार संहिता का उल्लंघन माना गया था, जो दो अलग-अलग जातियों या धर्मों के विरोधी थे।” मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सख्त कदम न उठाने के लिए चुनाव आयोग पर हमला किया।

उन्होंने कहा, “चुनाव आयोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है, जो शहीदों के नाम पर वोट मांग रहे हैं।” रिपोर्ट के अनुसार, मायावती ने चेतावनी दी, “अगर हमें केंद्र में सरकार बनाने का मौका मिलता है तो हम इसका बदला लेंगे।”