समाचार
अयोध्या हवाई अड्डे के लिए योगी सरकार ने दी भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया को रफ्तार

उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्डयन निदेशक सूर्य पाल सिंह गंगवार ने जानकारी दी कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने अयोध्या में एक पूर्ण हवाई अड्डे के निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया को तेज कर दिया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने बताया, “करीब 280 एकड़ भूमि को उनके मालिकों की रज़ामंदी के बाद अधिग्रहित किया जाएगा। अयोध्या प्रशासन ने मौजूदा हवाई पट्टी के आसपास के तीन गाँवों की पहचान की है। भूमि अधिग्रहण की पूरी कार्यवाही की जाएगी।”

योगी सरकार ने भूमि अधिग्रहण की प्रकिया के लिए 200 करोड़ रुपये का फंड जारी किया है। बड़ी वाणिज्यिक उड़ानों को संचालित करने के लिए कम से कम 2.5 किमी लंबी और 45 मीटर चौड़ी हवाई पट्टी के विस्तार की ज़रूरत है। वर्तमान हवाई पट्टी छोटे हवाई जहाज उतारने के लिए करीब 1.5 किमी लंबी और 30 मीटर चौड़ी है।

इस परियोजना का उद्देश्य मंदिर की विरासत को बहाल करना, नगरी को पर्यटन केंद्र बनाना और शहर की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना है। हवाई अड्डे का नाम भगवान राम के नाम पर रखा जाएगा।

इस साल फरवरी में यूपी कैबिनेट ने अयोध्या हवाई अड्डे पर कुल 640 रुपये खर्च करने का प्रस्ताव पारित किया। दिसंबर 2018 में पेश किए गए दूसरे अनुपूरक बजट में पहले ही 200 करोड़ रुपये आवंटित कर दिए थे।