समाचार
बकरीद पर बॉम्बे उच्च न्यायालय ने घरों में पशु वध पर लगाई रोक, स्वच्छता का ध्यान

बॉम्बे उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने मंगलवार को बकरीद के मौके पर फ्लैट्स और घरों के अंदर भेड़ और बकरियों के वध पर प्रतिबंध लगा दिया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, न्यायाधीश सत्यरंजन धर्माधिकारी और न्यायाधीश गौतम पटेल की पीठ ने बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) को घरों में जानवरों की कुर्बानी की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। हालाँकि, इस पर पूरी तरह प्रतिबंध नहीं होगा।

अदालत ने कहा, “हमारे विचार में सार्वजनिक सुरक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता की आवश्यकताएँ ऐसी किसी भी नीति को स्वीकार नहीं करती हैं, जो घरों के अंदर कुर्बानी की अनुमति देती हो।”

न्यायाधीशों ने कहा, “मुंबई घनी आबादी वाला शहर है। यहाँ घर छोटी-छोटी जगहों पर आवास सटे हुए बने हैं। ऐसे में हम नहीं मानते कि आवासीय फ्लैट के भीतर बलि के सुरक्षित तरीके की व्यवस्था करना संभव है।”

उच्च न्यायालय ने बीएमसी को घरों और सोसायटी में कुर्बानी की अनुमति देने की एक शर्त रखी थी। इसके तहत धर्मस्थल के एक किमी. के दायरे में स्थित आवासीय परिसर या सामुदायिक भवनों में कुर्बानी को प्रतिबंधित किया जाए।