समाचार
शपथ ग्रहण समारोह- मारे गए भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवार के होने से ममता नहीं

नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 50 से अधिक उन पार्टी कार्यकर्ताओं के परिवारों को बुलाया है जिन्होंने चुनाव अभियान के दौरान अपनी जान गँवाई।

सबसे ज़्यादा हिंसा पश्चिम बंगाल में देखी गई। इस राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले आमंत्रण को स्वीकार किया था लेकिन बाद में पीड़ित परिवारों के सम्मिलित होने के कारण अब वे इस समारोह में उपस्थिति दर्ज नहीं कराएँगी।

ज तक  ने बताया कि भाजपा ने ऐसे 54 कार्यकर्ताओं के परिवारों को विशेष आमंत्रण भेजा है जिन्होंने चुनावी हिंसा में अपने प्राणों का बलिदान देकर पार्टी को जीत दिलाई है। पिछले छह वर्षों में हिंसा का शिकार हुए इन कार्यकर्ताओं में 51 पश्चिम बंगाल से हैं।

30 मई को होने वाले इस कार्यक्रम में बिम्सटेक देशों के राष्ट्राध्यक्षों, राजनीतिक दलों के अध्यक्षों व देश के अन्य राजनेताओं और व्यक्तित्वों को बुलाया गया है। नियमानुसार सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों, उपमुख्यमंत्रियों एवं सारे सांसद भी बुलाए गए हैं।