समाचार
देश-द्रोह कानून हटाने पर राजनाथ का कांग्रेस पर निशाना, “हम इसे और कड़ा बनाएँगे”

शुक्रवार (12 अप्रैल) को गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव के लिए जारी किए गए घोषणापत्र में लिखे हुए देश-द्रोह कानून को हटाने की बात को ख़ारिज किया है। सिंह ने कहा कि भाजपा के पुनः कार्यकाल में आने के बाद भाजपा देश-द्रोह के लिए कड़े से कड़े कानून बनाएगी।

गृह मंत्री ने गुजरात के गांधीधाम में कहा “अगर कोई देश के साथ धोखा करे तो क्या उसे छोड़ दिया जाना चाहिए? कांग्रेस का कहना है कि वह देश-द्रोह कानून को ख़त्म कर देंगे, यह बात बोलकर वह क्या दर्शना चाहते हैं? हमारी सरकार के एक बार फिर कार्यकाल में आने पर हम देश-द्रोह के लिए कड़े से कड़े कानून बनाएँगे।”

कांग्रेस के साथ-साथ केंद्रीय मंत्री ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह द्वारा जम्मू-कश्मीर राज्य के लिए अलग प्रधानमंत्री बनाने की मांग पर भी जवाब दिया। राजनाथ ने कहा, “जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है की देश में दो प्रधानमंत्री होने चाहिए, एक जम्मू-कश्मीर के लिए और एक बाकी के भारत के लिए। अगर ये लोग इस प्रकार की मांगे करते रहेंगे तो मजबूरन संविधान के अनुच्छेद 370 और 35ए का अभिनिशद करना होगा। हम इस प्रकार का भारत नहीं चाहते हैं।”

सिंह ने नरेंद्र मोदी के काम के बारे में भी बात की और कहा कि नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए वादों पर संदेह नहीं करना चाहिए। वह मानते हैं कि भारत 2007 में भी एंटी सैटेलाइट बनाने के काबिल था लेकिन उस वक़्त भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने वैज्ञानिकों को यह काम करने से रोक दिया था।