समाचार
सांसदों का आचरण सुधारने के लिए भाजपा की ‘अभ्यास वर्ग’ कार्यशाला सप्ताहांत पर

सांसदों को दुराचार से बचाने, अनुशासन का पालन कराने और समय की पाबंदी का पाठ पढ़ाने के लिए भाजपा साप्ताहांत पर एक कार्यशाला आयोजित कर रही है। इन बातों को लेकर प्रधानमंत्री बीते काफी समय से चिंतिंत थे।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, युवा और नव-निर्वाचित भाजपा सांसदों के लिए दो दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम 3 और 4 अगस्त को आयोजित किया जाएगा। इसका उद्देश्य संसदीय व्यवहार और उनके सार्वजनिक आचरण को बढ़ावा देना है।

कार्यशाला का नाम अभ्यास वर्ग रखा गया है, जो हिमाचल प्रदेश सहित कई राज्यों में पहले से ही चल रही है। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के अनुसार, सभी सांसदों का कार्यशाला में भाग लेना अनिवार्य है।

मालूम हो कि भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने बीते दिनों बयान दिया था कि वह नालियों और शौचालयों को साफ करने के लिए नहीं चुनी गई हैं। उनके इस बयान के बाद भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें कार्यालय तलब कर लिया था।

इसी तरह मध्य प्रदेश के भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय को सरकारी अधिकारी को ड्यूटी के दौरान बल्ले से पीटते हुए कैमरे में कैद किया गया था। आकाश के कृत्य और पिता द्वारा बेटे के बचाव से प्रधानमंत्री कथित तौर पर गुस्से में थे।

इस तरह की शर्मनाक घटनाओं की वजह से सत्तारूढ़ दल को संसद सत्र के दौरान काफी हताशा झेलनी पड़ी थी। यही नहीं, कुछ सांसदों ने तो संसद सत्र को ही छोड़ दिया था। इसमें अभिनेता से नेता बने सनी देओल और हेमा मालिनी शामिल हैं।

पहले कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नैतिकता और शिष्टाचार के बारे में विभिन्न मौकों पर भाजपा सांसदों की सभाओं को संबोधित करते थे। दूसरी बार के कार्यकाल में उन्होंने इसको लेकर ज़रूरी कदम उठाए हैं।