समाचार
असम में 2014 से भी बेहतर प्रदर्शन करने की ओर बढ़ रही है भाजपा

असम की 14 लोकसभा सीटों के रुझान में भाजपा आश्चर्यजनक रूप से बढ़त बनाए हुए है। भाजपा-अगपा यहाँ 10 सीटों पर आगे चल रही  है। वहीं कांग्रेस एक एक सीट पर आगे चल रही है। अगर भाजपा बढ़त कायम रखकर सात से ज्यादा सीटों पर कब्जा करती है तो असम के परिणाम सबके लिए किसी बड़े आश्चर्य से कम नहीं होंगे।

इससे पूर्व, पोल्स्टर्स ने भविष्यवाणी की थी कि भाजपा असम में लगभग सात सीटें जीतेगी, जबकि कांग्रेस छह सीटें और एआईयूडीएफ एक सीट जीतेगी। अब रुझान देखकर लगता है कि भाजपा 2014 की सात सीटों की तुलना में इस बार अपनी स्थिति में सुधार कर सकती है। लगता है कि भाजपा नेता और राज्य के वित्त मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा की कम से कम दस सीटें जीतने की भविष्यवाणी सच भी साबित हो सकती है।

पहले कहा जा रहा था कि नागिरकता (संशोधन) विधेयक, जिसने असम में विरोध प्रदर्शन को भड़काया था, इस बार भाजपा को नुकसान पहुँचा सकता है। भाजपा ने इस बिल को अगली लोकसभा में पेश करने का वादा किया था। इसके बावजूद कई भाजपा नेता लगातार यह कहते रहे कि इससे पार्टी को नुकसान नहीं होगा। अब यह शुरुआती रुझान आने के बाद स्पष्ट हो गया है कि अकारण इस तरह के अंदेशे लगाए जा रहे थे।