समाचार
नंदीग्राम में भाजपा कार्यालय में तोड़फोड़, बंगाल के परिणाम आने के बाद से चार की मौत

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के रविवार (2 मई) को परिणाम आने के बाद से हुई हिंसा में अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है। सोमवार को नंदीग्राम में भाजपा के कार्यालय में तोड़फोड़ की गई। साथ ही उसमें आग लगाने की भी कोशिश की गई।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, भाजपा ने नंदीग्राम के कार्यालय में तोड़फोड का तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर आरोप लगाया है। इसके अलावा, कई दुकानों और घरों मे भी तोड़फोड़ व आगजनी की गई है। घटना से क्षेत्र में तनाव भरा माहौल है। भाजपा ने कहा कि मौके पर जब पुलिस पहुँची तो उपद्रवी भाग गए।

रविवार से हुई हिंसा में दक्षिण 23 परगना, नदिया में भाजपा कार्यकर्ता, वर्धमान में टीएमसी और उत्तर 24 परगना में आईएसएफ कार्यकर्ता की जान चली गई है। रविवार रात को कोलकाता के उल्टाडांगा क्षेत्र में एक भाजपा कार्यकर्ता को पीटकर मारने का आरोप लगाया गया है।

कोलकाता के बेलिहाता के भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव करते हुए जानकारी दी थी कि तृणमूल कांग्रेस के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे हैं और उनके घर व कार्यालय को तोड़फोड़ डाला है। उन्होंने वीडियो में बताया कि वह भाजपा कार्यकर्ता हैं इसलिए उनके यहाँ हमले किए जा रहे हैं। मेरे यहाँ कुत्ते के कुछ बच्चे पले हुए थे, जिन्हें भी उन गुंडों ने मार डाला। वीडियो आने के कुछ देर बार ही उनकी हत्या भी कर दी गई थी।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष आज दोपहर 4 बजे चुनाव परिणाम के बाद हुई हिंसा को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपेंगे। पार्टी का आरोप है कि कूचबिहार के सीतलकुची में भाजपा व टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई। उसके बाद गोली लगने से भाजपा कार्यकर्ता की मौत हो गई।