समाचार
प्रियंका गांधी को भाजपा विधायक का पत्र- “पति के हत्यारे अंसारी की सहायता न करें”

मारे गए विधायक कृष्णानंद राय की विधवा भाजपा विधायक अलका राय ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को एक भावनात्मक पत्र लिखा है, जिसमें बसपा विधायक मुख्तार अंसारी की सहायता ना करने का आग्रह किया है।

मुख्तार अंसारी ने 2005 में कृष्णानंद राय की कथित तौर पर गोली मारकर हत्या कर दी थी। हालाँकि, बाद में सबूतों के अभाव में न्यायालय ने उसे बरी कर दिया था। वर्तमान में वह पंजाब के मोहाली जेल में बंद है।

अलका राय ने प्रियंका गांधी को लिखे पत्र में कहा है कि वे पिछले 14 वर्षों से न्याय के लिए लड़ रही हैं।

उन्होंने पत्र में कहा, “आपकी पार्टी और पंजाब में आपकी सरकार मुख्तार अंसारी को बचा रही है। उसे वापस उत्तर प्रदेश में स्थानांतरित करने से इनकार कर दिया गया है। अविश्वसनीय है कि ये सब आपके या राहुल जी की जानकारी के बिना हो रहा है। पेशेवर अपराधी मुख्तार अंसारी ने कई परिवारों को बर्बाद किया है।”

अलका ने आगे लिखा, “उनके जैसे कई लोग मुख्तार अंसारी को उसके अपराधों के लिए सजा दिलाने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।” उन्होंने प्रियंका को संवेदनशीलता दिखाने और अपराधी के खिलाफ कार्रवाई करने में मदद करने का आग्रह किया।

अलका राय गाज़ीपुर के मोहम्मदाबाद सीट से भाजपा की विधायक हैं। उनके पति ने एक बार चुनाव लड़ा था। कृष्णानंद राय को 29 नवंबर 2005 को एके -47 राइफलों से लैस हमलावरों के एक समूह ने गाजीपुर में मार दिया था। इस भीषण हत्या में पुलिस ने मौके से 400 से अधिक गोली के खोखे बरामद किए थे, जबकि 21 गोलियाँ राय के शरीर से निकाली गई थीं।

मामले की जाँच उत्तर प्रदेश पुलिस से केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) को स्थानांतरित की थी। 2013 में सर्वोच्च न्यायालय ने अलका राय की याचिका पर मुकदमे को राज्य से दिल्ली भी स्थानांतरित कर दिया था।