समाचार
आम बजट- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरा किया ‘सबका साथ, सबका विकास’ का वादा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली एनडीए सरकार की दूसरी पारी के आम बजट-2019 में महिलाओं, अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों (एसटी) के लिए क्रमशः 10, 25, 30 प्रतिशत के आवंटन में वृद्धि देखी गई।

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, इसके साथ ही सरकार ने आम बजट में ज़्यादा अमीर लोगों पर टैक्स बढ़ा दिया है। 2 और 5 करोड़ रुपये से अधिक वार्षिक आय वालों पर क्रमशः 3 और 7 प्रतिशत का अधिशुल्क पड़ेगा।

लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास देने का भरोसा दिया था। अधिक अमीर वर्ग पर करों का भार बढ़ाकर और वंचित वर्गों के लिए अधिक धनराशि का आवंटन करके प्रधानमंत्री की सरकार ने अपना वादा पूरा करने का इशारा किया है।

सरकारी सूत्रों ने कहा कि अधिभार लगभग 12,000 करोड़ रुपये का होगा और कॉरपोरेट कर में कमी से 4,000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा।

सरकार ने किफायती आवास के डेवलपर्स के लिए एक कर अवकाश और 31 मार्च 2020 तक उधार लिए गए गृह ऋण पर ब्याज में 1.5 लाख रुपये तक की अतिरिक्त कटौती का प्रस्ताव रखा है।

सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत 1.95 करोड़ घरों के निर्माण की घोषणा की। साथ ही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ग्रामीण सड़कों में सुधार के लिए 80,250 करोड़ रुपये का आवंटन किया है।