समाचार
उत्तर प्रदेश में भाजपा की वापसी, योगी मुख्यमंत्री के रूप में पहले विकल्प- जनमत सर्वे

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में आठ माह से भी कम समय है। ऐसे में मतदाताओं के रुझान को जानने के उद्देश्य से एबीपी-सीवीवोटर-आईएनएस ने जनमत सर्वेक्षण करवाया। इसमें पता चला कि प्रदेश में भाजपा की पुनः वापसी हो रही और योगी आदित्यनाथ अब भी मतदाताओं की पहली पसंद बने हुए हैं।

आम चुनाव 2024 के पूर्ववर्ती के रूप में उत्तर प्रदेश चुनाव को देखा जा रहा है। सर्वेक्षण में संभावना जताई गई कि प्रदेश में वर्तमान में काबिज़ भाजपा की सत्ता आगे बनी रहेगी। चुनाव में भाजपा को 42 प्रतिशत, सपा को 30 प्रतिशत, बसपा को 16 प्रतिशत, कांग्रेस को 5 प्रतिशत और अन्य को 7 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं।

403 विधानसभा सीटों में से भाजपा 259-267 सीटें जीतकर सत्ता बरकरार रख सकती है। सपा को 109 से 117, बसपा को 12 से 16, कांग्रेस को 3 से 7 और अन्य को 6 से 10 सीटें मिल सकती हैं। सर्वेक्षण से पता चला है कि वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री पद के लिए अखिलेश यादव, मायावती और प्रियंका गांधी से काफी आगे और सबसे पसंदीदा विकल्प हैं।

सर्वेक्षण में मुख्यमंत्री पद के बारे में पूछे जाने पर 40.4 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने योगी आदित्यनाथ का नाम लिया, जबकि 27.5 प्रतिशत ने अखिलेश यादव के पक्ष में अपनी राय दी। 15 प्रतिशत से भी कम उत्तरदाताओं ने कहा कि वे बसपा प्रमुख मायावती को आगामी मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं। वहीं, सिर्फ 3.2 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।

लगभग 44 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने वर्तमान मुख्यमंत्री के प्रदर्शन पर संतोष व्यक्त किया, जबकि 18.1 प्रतिशत ने कहा कि वे कुछ हद तक उनके प्रदर्शन से संतुष्ट हैं। सर्वेक्षण में पता चला कि बेरोज़गारी और बढ़ती महंगाई वर्तमान में मतदाताओं के लिए चिंता का प्रमुख मुद्दा है।