समाचार
सदस्यता अभियान- 370 के हटने के बाद भाजपा के कश्मीर घाटी में 50,000 नए सदस्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त करने के बाद राज्य में सदस्यता अभियान चलाने पर कश्मीर घाटी से पार्टी को उत्साहजनक परिणाम मिले हैं। आतंकियों और अलगाववादियों का गढ़ माने जाने वाले बारामुला, श्रीनगर और अनंतनाग में पार्टी करीब 50,000 नए सदस्य बनाने में सफल रही है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, अभियान में 23,314 सदस्यों ने फॉर्म भरकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। सदस्यता अभियान से जुड़े भाजपा के वरिष्ठ नेता ने बताया कि जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त होने के बाद संचार सेवाएँ ठप थीं लेकिन नमो ऐप, मिस्ड कॉल और फॉर्म के जरिए पार्टी से करीब 50,000 नए सदस्य जुडे़।

अपेक्षा की जा रही है कि जब राज्य के चिंताजनक हालात होने के बावजूद इतनी कामयाबी मिली है तो स्थिति सामान्य होने के बाद अभूतपूर्व परिणाम देखने को मिलेंगे। आतंकी जाकिर मूसा और बुरहान वानी से गृह क्षेत्र त्राल में पार्टी को 1,000 नए सदस्य मिले हैं।

वहीं, आतंकियों के पनाह लेने वाले पुलवामा, शेपियां और कुलगाम में पार्टी को 3000 नये सदस्य मिले हैं। भाजपा की योजना कश्मीर घाटी में हालात सामान्य होने के बाद एक लाख लोगों को जोड़ने की है। इस सफलता के पीछे सरपंचों की अहम भूमिका बताई जा रही है। चूँकि, विकास राशि अब सीधे पंचायत तक पहुँच रही है इसलिए वहाँ की स्थिति में बड़ा बदलाव देखने को मिला है।

यहाँ बने इतने सदस्य
बारामुला के कारनाह में 6059, कुपवारा में 902, हंदवारा में 409, बांदीपोरा में 247, बारामुला में 627, गुलमर्ग में 269, श्रीनगर के गंदरबेल में 1309, हजरतबल में 158, चादुरा में 590, बडगाम में 471, अनंतनाग के पहलगाम में 416, नूराबाद में 837।