समाचार
भूमि हड़पने के भय से नमाज़ पढ़ने वालों पर बिहार के आदिवासियों ने किया हमला

मुस्लिम समुदाय द्वारा सार्वजनिक स्थलों पर नमाज़ पढ़े जाने ने एक खतरनाक मोड़ तब ले लिया जब बिहार के ठाकुरगंज में सखौदली पंचायत के धुलाबारी गाँव के आदिवासियों ने इसे अपनी भूमि पर खतरे की तरह देखा।

बुधवार (5 जून) को मुस्लिम पुरुषों का समूह ग्राम के निकट चाय बागानों पर ईद के मौके पर नमाज़ पढ़ने पहुँचा। आदिवासियों को यह उनकी ज़मीन हड़पने का एक षड्यंत्र लगा और उन्होंने अपने पारंपरिक हथियारों से उनपर हमला कर दिया। कुछ लोगों को तीर लगे जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जागरण  ने रिपोर्ट किया।

पाँच घायल लोगों के साथ सिविल सर्जन स्वयं अस्पताल गए और उन्हें आवश्यक उपचार दिया गया। वे सभी खतरे के बाहर हैं, अस्पताल प्रभारी अशोक कुमार घोष ने बताया। कुछ दिनों में वे स्वस्थ्य रूप से चलने-फिरने लगेंगे, उन्होंने आगे जोड़ा।

इससे पहले समुदाय के सार्वजनिक स्थल पर नमाज़ पढ़ने से गुरुग्राम मे भी विवाद हुआ था। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने उन्हें लोगों की सुविधा के बारे में सोचते हुए मस्जिद और ईदगाह में नमाज़ पढ़ने के निर्देश दिए थे।