समाचार
बिहार एटीएस ने पकड़े बांग्लादेश के दो आतंकवादी, हमले के लिए ढूंढ रहे थे निशाना

बिहार के आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) ने पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन के पास बांग्लादेश के आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन और इस्लामिक स्टेट बंगलादेश के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है।

ख़ुफ़िया सूत्रों से जानकारी मिलने के बाद बिहार एटीएस ने गुट बना कर दोनों आतंकियों को पकड़ा है। इन दोनों के पास से पुलिस को फ़र्ज़ी भारतीय वोटर कार्ड प्राप्त हुए हैं। और यह दोनों बिना किसी  पासपोर्ट, वीजा या वैध दस्तावेज के भारत में अवैध रूप से घुसे थे, इंडिया टीवी  ने रिपोर्ट किया।

एटीएस के द्वारा जारी प्रेस रिपोर्ट में बताया गया कि यह दोनों आतंकवादी अपने संगठनों के निर्देशों के अनुसार दिल्ली, बिहार, केरल और कोलकाता में घूम-घूम कर मुस्लिम युवाओं को अपने साथ जोड़ने के साथ-साथ बौध धर्म स्थलों पर आतंकी हमले करने के लिए जगहों की तलाश कर रहे थे। इसी कारण यह दोनों बिहार के गया में भी 11 दिनों तक रहे थे।

दोनों आतंकियों की पहचान खैरूल मंडल और अबू सुल्तान के नाम से हुई है और यह दोनों बंगलादेश में परगना-खुलना के जिले झेनोडा के गाँव चापातल्ला के रहने वाले हैं।

एटीएस को इन दोनों के पास से पुलवामा हमले के बाद पुलिस की प्रतिनियुक्ति से जुड़े दस्तावेज, आतंकवादी संगठन आईएसआईएस के पोस्टर और पैम्पलेट के साथ तीन मोबाइल फोन, एक मेमोरी कार्ड, दो फर्जी भारतीय पहचान पत्र और एक फर्जी पैन कार्ड मिले हैं।

साथ ही इनके पास से एटीएस ने दिल्ली से हावड़ा और गया से पटना तक का रेल टिकट और कोलकाता से गया तक का महारानी एक्सप्रेस बस का टिकट बरामद किया है।