समाचार
उत्तर प्रदेश में परिवहन मंत्रालय की 210 किमी के राम वन गमन मार्ग निर्माण की योजना

नितिन गडकरी के नेतृत्व में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय उत्तर प्रदेश में 210 किलोमीटर लंबे राम वन गमन मार्ग के निर्माण की योजना बना रहा है। कहा जाता है कि भगवान राम, सीता और लक्ष्मण के साथ वनवास के दौरान इसी रास्ते पर गए थे।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह परियोजना अयोध्या से चित्रकूट वाया फैजाबाद, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, जेठवारा, श्रृंगवेरपुर, मंझनपुर और राजापुर से जुड़ेगी। प्रस्तावित रास्ता एनएच-28, एनएच-96, एनएच-731ए से होकर गुजरेगा। इसके अलावा, ग्रीनफील्ड अलाइनमेंट के साथ गंगा नदी पर श्रीनवरपुर में पुल बनेगा। पूरे मार्ग में से 38 किलोमीटर लंबा खंड चित्रकूट से होकर गुजरेगा।

परियोजना के पहले चरण में भगवान राम के वन मार्ग पर आने वाले उत्तर प्रदेश के चयनित स्थानों में से आठ का विकास भी दिखाई देगा। इन्हें 137.45 करोड़ रुपये की लागत से पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित किया जाएगा।

यह भी गौर किया जाना चाहिए कि गत वर्ष मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अपने राज्य में राम वन गमन पथ के विकास के लिए गडकरी से मदद मांगी थी।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी गत वर्ष अगस्त में घोषणा की थी कि राज्य सरकार राज्य में राम वन गमन पर्यटन सर्किट के विकास में योगदान देने के लिए लोगों के लिए एक समर्पित कोष स्थापित करेगी।