समाचार
हिंदू महासभा का प्रधानमंत्री से आग्रह- “सावरकर, एसपी मुखर्जी भारत रत्न से सम्मानित हों”
आईएएनएस - 13th January 2020

सोमवार (13 जनवरी) को अखिल भारतीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि महाराज ने आईएएनएस को बताया, “सबसे अधिक संभावना है कि वीर सावरकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भारत रत्न देने की घोषणा आगामी गणतंत्र दिवस पर की जाए।”

अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने प्रधानमंत्री से वीर सावरकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भारत रत्न देने का आग्रह किया है।

13 जनवरी को हिंदू महासभा अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने इसी संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा।

आईएएनएस से बात करते हुए स्वामी चक्रपाणि ने कहा, “मैंने प्रधानमंत्री को कई बार पत्र लिखकर आग्रह किया है कि इन दोनों को भारत रत्न दिया जाना चाहिए। वे अत्यधिक बौद्धिक व्यक्ति थे और महान देशभक्त थे।”

उन्होंने कहा कि भाजपा ने दूसरी बार सत्ता में आने पर सावरकर और मुखर्जी को भारत रत्न से सम्मानित करने का वादा किया था।

“भाजपा ने 2019 के आम चुनावों से पहले मुझसे वादा किया था कि वे वीर सावरकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भारत रत्न पुरस्कार देंगे, अगर दूसरी बार सत्ता में आने के लिए वोट दिया जाए।”, स्वामी चक्रपाणि ने आगे कहा, “सबसे अधिक संभावना है कि सरकार आगामी गणतंत्र दिवस पर इस खबर की घोषणा करेगी।”

कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा, “मुझे कांग्रेस के शासन में ऐसा होने की उम्मीद नहीं है। हालांकि मुखर्जी को जवाहरलाल नेहरू ने मंत्री बनाया था। लेकिन यह देखते हुए कि पार्टी ने दोनों देशभक्तों, विशेषकर सावरकर, के नाम को बदनाम किया है। मुझे लगता है कि वर्तमान सरकार उन्हें सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न दे सकती है।”

गौरतलब है कि वीर सावरकर ने 1937 से 1942 तक अखिल भारतीय हिंदू महासभा के 15वें राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में कार्य किया था और 1943 से 1944 तक श्यामा प्रसाद मुखर्जी सभा के 16वें राष्ट्रीय अध्यक्ष थे।

(इस खबर को वायर एजेंसी फीड की सहायता से प्रकाशित किया गया है।)