समाचार
भारत बायोटेक क्षमता बढ़ाकर एक वर्ष में 70 करोड़ कोवैक्सीन की खुराक तैयार करेगा

भारत बायोटेक ने मंगलवार (20 अप्रैल) को कहा कि वह अपनी क्षमता बढ़ाकर एक वर्ष में कोवैक्सीन की 70 करोड़ खुराक तैयार करेगा। इसके लिए वह बेंगलुरु और हैदराबाद में चरणबद्ध तरीके से अपने लक्ष्य को हासिल करेगा।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने कहा, “कोवैक्सीन के निर्माण की क्षमता का कम समय में विस्तार करने में भारत बायोटेक सक्षम है। इसका मुख्य कारण विशेष रूप से डिजाइन किए गए बीएसएल-3 सुविधाओं की उपलब्धता है।”

कंपनी ने यह भी कहा, “वैक्सीन की निर्माण क्षमता को बढ़ाना लंबी और जटिल प्रक्रिया है। इसके लिए काफी धन और कई वर्षों के निवेश की आवश्यकता होती है।” कोवैक्सीन को दुनिया के कई देशों में आपातकालीन उपयोग की स्वीकृति मिल गई है। इनमें मैक्सिको, ईरान गुयाना, वेनेजुएला, जिम्बाब्वे, फिलीपींस समेत कई देश शामिल हैं। उधर, करीब 60 देशों में इसके लिए वार्ता भी जारी है।

भारतीय प्रतिरक्षाविदों (आईआईएल) के साथ क्षमता बढ़ाने के लिए भारत बायोटेक ने हाथ मिलाया है। प्रौद्योगिकी हस्तांतरण की प्रक्रिया अच्छी तरह से चल रही है। आईआईएल के पास वाणिज्यिक पैमाने पर और जैव सुरक्षा नियंत्रण के तहत निष्क्रिय वायरल टीकों के निर्माण की क्षमता और विशेषज्ञता है।