समाचार
10 मिनट देरी की सज़ा- उत्तर प्रदेश में सामने आया फोन पर तीन तलाक का मामला

उत्तर प्रदेश के एटा में कथित तौर पर एक महिला को समय पर घर न लौटने के लिए फोन पर तीन तलाक दिया गया है, जबकि कुछ सप्ताह पूर्व ही लोक सभा में तीन तलाक को आपराधिक गतिविधि ठहराने का विधेयक पारित किया गया है।

“मैं अपनी बीमार दादी को देखने के लिए मायके गई थी। मेरे पति ने मुझे आधे घंटे में लौटने के लिए कहा था। मुझे सिर्फ 10 मिनट की ही देरी हुई थी। उसके बाद उन्होंने मेरे भाई के फोन पर कॉल करके तीन बार तलाक कहा। मैं पूरी तरह टूट गई थी।”, पीड़िता ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस  को बताया।

पीड़िता ने अपने ससुराल वालों पर भी दहेज की मांग को लेकर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उसने सरकार से सहायता मांगी है। “मुझे न्याय दिलाना सरकार की ज़िम्मेदारी है, अन्यथा मैं आत्महत्या कर लूँगी।”, उसने जोड़ा।

क्षेत्रीय अधिकारी अजय भदौरिया ने कहा है कि मामले की जाँच की जाएगी। लोक सभा ने 27 दिसंबर को तीन तलाक विधेयक पारित किया था जिसमें आरोपी को तीन साल की जेल का प्रावधान है।