समाचार
बंगाल, बिहार और छत्तीसगढ़ को मिला आयुष्मान भारत का सर्वाधिक लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई जा रही प्रमुख स्वास्थ्य बीमा योजना “आयुष्मान भारत” का सर्वाधिक लाभ बंगाल, बिहार तथा छत्तीसगढ़ राज्यों को मिला है। इस योजना में सरकार ने नवंबर तक 798.34 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च की है।

आयुष्मान भारत के अंतर्गत लागू की गई प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से गरीब परिवारों को अस्पताल में भर्ती होने पर 5 लाख रुपए तक की सहायता की जाती है। 50 करोड़ लोगों तक इस योजना का लाभ पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं वर्तमान में नियमित रूप से क़रीब 10,000 लोगों की सहायता की जा रही है तथा यह आँकड़ा जल्द ही 30,000 तक पहुँचने की संभावना है।

पश्चिम बंगाल को केंद्र सरकार ने लगभग 193.34 करोड़ की राशि दी है। इसमें से प्रशासनिक व्यय के लिए 16.78 करोड़ की राशि निर्धारित की गई है। वहीं बिहार तथा छत्तीसगढ़ को इस योजना के अंतर्गत क्रमश: 188.27 करोड़ तथा 114.43 करोड़ की धनराशि दी गई है, फाइनेंशियल एक्सप्रेस  की रिपोर्ट में बताया गया।

इस योजना में केंद्र तथा राज्य सरकारें 60:40 के अनुपात में व्यय कर रही हैं। उत्तर-पूर्वी तथा हिमालय से सटे राज्यों में केंद्र सरकार 90 प्रतिशत व्यय करेगी।

हालाँकि इस योजना की निजी संस्थानों पर व्यय करने के कारण आलोचना की जा रही है क्योंकि वर्तमान में इसका 60 प्रतिशत कार्य निजी अस्पतालों में किया जा रहा है।

वहीं सरकार आश्वासन दे रही है कि 5 अलग वैश्लेषिकी संस्थाएँ बनाई हैं, जो निजी अस्पतालों में चल रही योजना में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकेंगी।