समाचार
फ्रांस में मोहम्मद के कार्टून दिखाने वाले शिक्षक की हत्या, राष्ट्रपति ने की निंदा

पेरिस के उत्तर-पश्चिम में वाल डी ऑइस क्षेत्र में स्थित फ्रांसीसी शहर कॉनफ्लैंस-सैंटे-होनोरिन में इतिहास के शिक्षक जो इस्लामिक मोहम्मद के कार्टून पर छात्रों के साथ चर्चा कर रहे थे, उनकी शुक्रवार (16 सितंबर) को सड़क पर हत्या कर दी गई।

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, इसके बाद पुलिस ने एरगनी शहर में संदिग्ध को मार दिया। संदिग्ध व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई क्योंकि उसने हथियार डालने के आदेशों का जवाब देने की बजाय धमकी दी थी।

पीड़ित एक 47 वर्षीय इतिहास-भूगोल प्रोफेसर था। बोलने की स्वतंत्रता के बारे में छात्रों को पढ़ाते समय शिक्षक ने मोहम्मद का कार्टून दिखाया। अभिभावकों की रिपोर्ट के अनुसार, कई अभिभावकों और एक परिवार ने कानूनी शिकायत दर्ज कराई है।

मॉस्को के 18 वर्षीय संदिग्ध के बारे में कहा जाता है कि उसने सोशल मीडिया पर हमले की तस्वीरें साझा कीं। फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने हमले की निंदा की और कहा “हमारे हमवतन की आज इसलिए हत्या कर दी गई क्योंकि उसने पढ़ाया था। उन्होंने अपने छात्रों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, उसे मानने या न मानने की स्वतंत्रता के बारे में सिखाया था। यह कायरतापूर्ण हमला था। वह एक आतंकवादी इस्लामवादी हमले का शिकार हुए।”

मैक्रॉन ने कहा, “हत्यारे ने गणतंत्र और उसके मूल्यों पर हमला किया है। यह हमारी लड़ाई है और यह अस्तित्वपरक है। वे (आतंकवादी) सफल नहीं होंगे। वे हमें अलग नहीं कर पाएँगे।”

फ्रांसीसी शिक्षा मंत्री जेन-मिशेल ब्लेंकर ने ट्विटर पर कहा, “यह फ्रांस था, जिस पर हमला हुआ। यह हमला ऐसे समय हुआ है, जब राष्ट्रपति ने घरेलू अलगाववाद को रोकने के लिए एक नया कानून लाने पर जोर दिया है। इसकी वजह इस्लामी कट्टरपंथी है, जिन पर घरेलू स्कूलों, चरमपंथी उपदेशों और इस तरह की अन्य गतिविधियों के माध्यम से कमजोर लोगों को बहकाने का आरोप है।”