समाचार
बाटला हाउस से मुठभेड़ में बच निकले आरिज़ खान को फाँसी, ₹11 लाख का आर्थिक दंड

बाटला हाउस मुठभेड़ मामले में दिल्ली के साकेत न्यायालय ने सोमवार (15 मार्च) को इंडियन मुजाहिद्दीन (आईएम) के आतंकी आरिज़ खान को फांसी की सज़ा सुनाई है। इसके अलावा उस पर 11 लाख रुपये का आर्थिक दंड भी लगाया गया है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप यादव ने इसे बेहद असाधारण मामला बताया है। इससे पूर्व, न्यायालय ने आरिज़ खान की सज़ा का निर्णय शाम 4 बजे तक सुरक्षित रख लिया था।

पुलिस ने न्यायालय से इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की हत्या के मामले में आरोपी को मौत की सज़ा सुनाने का अनुरोध किया था। इससे पूर्व आरोपी को मामले में न्यायालय ने दोषी माना था।

बता दें कि बाटला हाउस मुठभेड़ के आरोपी आरिज़ खान को पुलिस ने 2018 में गिरफ्तार किया था। न्यायालय ने आरिज़ खान को आईपीसी की धारा 186, 333, 353, 302, 307, 174ए, 34 और आर्म्स एक्ट के तहत दोषी पाया था।

13 सितंबर 2008 को दिल्ली में सिलसिलेवार हुए बम धमाकों में 26 लोग मारे गए थे। इसके बाद 19 सितंबर को इंडियन मुजाहिद्दीन के पाँच आतंकियों के बाटला हाउस के एक फ्लैट में छिपे होने की जानकारी मिली थी। इस मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे। आरिज़ खान को 2018 में नेपाल से गिरफ्तार किया गया था।