समाचार
एमएसएमई ऋण स्वीकृति योजना में बैंकों ने ₹62,722 करोड़ के 2.15 लाख ऋण बाँटे

केंद्र सरकार की 59 मिनट की ऋण स्वीकृति योजना के तहत सार्वजनिक व निजी क्षेत्र के बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) ने 30 अप्रैल तक एमएसएमई के 76,670 करोड़ रुपये के 2,31,425 ऋण स्वीकृत किए हैं।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, एमएसएमई के लिए केंद्रीय मंत्रालय के आँकड़ों के मुताबिक इस राशि में से बैंकों ने 62,722 करोड़ रुपये के 2,15,836 ऋण दे भी दिए हैं। इसी तरह 56,773 करोड़ रुपये के 2,03,120 ऋण गत वर्ष 30 नवंबर तक और गत वर्ष 31 अगस्त तक 54,545 करोड़ रुपये के 1,96,473 ऋण दिए गए थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2018 में इस योजना की शुरुआत की थी। यह सिडबी द्वारा भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यस बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, इंडियन बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और बहुत से भागीदार के रूप में चल रहे बैंकों के साथ चलाई जा रही है।

यह योजना एमएसएमई को संयंत्र व मशीनरी की खरीद, प्रौद्योगिकी उन्नयन, उत्पाद विस्तार, कच्चे माल की खरीद, इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास आदि के लिए सावधि ऋण, मुद्रा ऋण और कार्यशील पूंजी ऋण देती है।