समाचार
आज़ादी की माँग को लेकर ह्यूस्टन में प्रदर्शन करेंगे बलूचिस्तानी कार्यकर्ता

ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहुँचने के बाद से कई असंतुष्ट संगठनों को आस है कि वे उनकी बात को सुनेंगे और समस्याओं का हल निकालेंगे।

पीटीआई की रिपोर्ट के अलुसार, सिंधी, बलूच और पश्तो कार्यकर्ता रविवार (22 सितंबर) को ह्यूस्टन में एक प्रदर्शन आयोजित करेंगे, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से पाकिस्तान से आजादी पाने की गुहार लगाएँगे।

इन समुदायों के कार्यकर्ताओं की एक बड़ी टुकड़ी इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका के विभिन्न हिस्सों से ह्यूस्टन में आई है। इसे अमेरिका में अपने तरह का पहला प्रदर्शन कहा जा रहा है। यह स्थल शहर के एनआरजी स्टेडियम के ठीक सामने है, जहाँ हाउडी मोदी कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।

सिंधी कार्यकर्ताओं ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, “सिंधी लोग ह्यूस्टन में एक संदेश के साथ यहाँ आए हैं। जब मोदी जी सुबह यहाँ से गुजरेंगे तो हम अपने संदेश के साथ यहाँ पहुँचेंगे कि हम आज़ादी चाहते हैं। हमें उम्मीद है कि मोदी जी और राष्ट्रपति ट्रंप हमारी मदद करेंगे।”

बलूच नेशनल मूवमेंट के अमरीकी प्रतिनिधि नबी बक्शा बलूच ने कहा कि हमें पाक से आज़ादी चाहिए। भारत और अमरीका को हमारी मदद करनी चाहिए, जिस तरह से 1971 में भारत ने बांग्लादेश के लोगों की मदद की थी।