समाचार
बलूच नागरिकों पर पाकिस्तान में हो रहे अत्याचार को लेकर ब्रिटेन व कनाडा में प्रदर्शन

बलूच नागरिकों पर अत्याचार को लेकर पाकिस्तान के खिलाफ पूरी दुनिया में प्रदर्शन किए जा रहे हैं। जबरदस्ती गायब करवाए गए पीड़ितों (विक्टिम्स ऑफ इनफोर्स्ड डिस्पीयरेंस) के अंतरराष्ट्रीय दिवस पर ब्रिटेन में कई प्रदर्शनकारी संसद के बाहर एकत्रित हुए और इमरान खान सरकार के खिलाफ नारेबाज़ी की।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, कई प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के आवास पर प्रदर्शन किया। कनाडा के टोरंटों शहर में सिंधी, बलूच और पख्तून संगठनों के सदस्यों ने पाकिस्तान के अत्याचारों की जानकारी दुनिया को दी।

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से पाकिस्तान में लोगों को जबरन गायब करने, इस्लाम में धर्मांतरण कराने और असाधारण हत्याओं को दबाने के लिए दबाव की नीति बनाने की मांग की।

ब्रिटेन और कनाडा में प्रदर्शनकारियों ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से पाकिस्तान का समर्थन रोकने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, “पाकिस्तान में हजारों निर्दोष बलूच नागरिकों को गिरफ्तार किया गया। बाद में वे गायब हो गए। उनमें से कई हिरासत में मारे गए। इस संबंध में हमारी तथ्य खोजने वाला मिशन बनाने की अपील है।”

अमेरिकी शहर न्यूयॉर्क में भी रविवार को पाकिस्तानी दूतावास के सामने लोगों ने वहाँ की सेना और खुफिया एजेंसी द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के अपहरण के विरोध में प्रदर्शन किया। इनमें भी सिंधी, बलूच, पख्तून और अल्पसंख्यक लोग शामिल हैं।