समाचार
मथुरा के मंदिर में नमाज़ अदा करने वाले दोनों आरोपियों की जमानत याचिका खारिज

मथुरा जिले के नंदगांव स्थित नंदबाबा मंदिर में नमाज़ अदा करने वाले खुदाई खिदमतगार संस्था के दो सदस्यों की जमानत अर्जी खारिज कर दी गई। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (एडीजे-2) द्वितीय की न्यायालय ने मंगलवार को मामले की सुनवाई की।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, एडीजे-2 महेंद्र नाथ की न्यायालय में बहस हुई। एडीजीसी राजू सिंह ने बताया, “दोनों आरोपी दिल्ली के फैजल खान और बिहार के चांद मोहम्मद की जमानत अर्जी खारिज कर दी गई।” दोनों आरोपी मथुरा जेल में बंद हैं। गत दो नवंबर को जाँच अधिकारी के कोविड-19 से संक्रमित होने की वजह से केस डायरी न्यायालय में नहीं आ सकी थी।

दोनों युवकों पर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए मंदिर परिसर में नमाज़ अदा करने का आरोप लगा था। यही नहीं, इसके पीछे विदेशी मुस्लिम संगठन और विदेशी फंडिंग की आशंका जताई गई थी। उधर, आरोपी युवकों का कहना है कि उनका मकसद सामाजिक सद्भाव का संदेश देना था।

बता दें कि 29 अक्टूबर को फैजल और चांद ने मंदिर में बिना अनुमति के नमाज़ अदा की थी। इस मामले में सेवायतों ने चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस ने दिल्ली से फैजल की गिरफ्तारी के बाद चांद मोहम्मद को गिरफ्तार किया था।